Tag - "कन्हैया! क्या सचमुच नंदगांव से चले जाओगे"

“कन्हैया! क्या सचमुच नंदगांव से चले जाओगे”

“कन्हैया! क्या सचमुच नंदगांव से चले जाओगे?” आँखों में यमुना की धार लिए खड़ी विमला ने जैसे अंतिम प्रयास किया। “नंदगांव से जाने के लिए ही तो रथ द्वार पर है विमला! पर तुम्हारे हृदय से कभी नहीं [...]