Author - Sri Astro Vastu

मंगल का मेष राशि में प्रवेश 24 दिसंबर, 2020

गोचर सिद्धांत : मंगल का मेष राशि में प्रवेश  यदि कोई ग्रह जन्म पत्रिका में बलवान हो और फिर गोचर में भी अपनी उच्च राशि, स्वराशि अथवा मित्र राशि में स्थित होकर दशा का भोग कर रहा हो तो [...]

बुध का धनु राशि में प्रवेश -17 दिसंबर, 2020

गोचर का स्वरूप और उसका आधार आकाश में स्थित ग्रह अपने मार्ग पर अपनी गतिनुसार भ्रमण करते हैं। इस भ्रमण के दौरान वे एक राशि से दूसरी राशि में प्रवेश करते हैं। जन्म समय में ये ग्रह जिस [...]

सूर्य का धनु राशि में प्रवेश – 15 दिसंबर, 2020

गोचर का स्वरूप और उसका आधार आकाश में स्थित ग्रह अपने मार्ग पर अपनी गतिनुसार भ्रमण करते हैं। इस भ्रमण के दौरान वे एक राशि से दूसरी राशि में प्रवेश करते हैं। जन्म समय में ये ग्रह जिस [...]

बुध का वृश्चिक राशि में प्रवेश -28 नवंबर, 2020

गोचर का स्वरूप और उसका आधार आकाश में स्थित ग्रह अपने मार्ग पर अपनी गतिनुसार भ्रमण करते हैं। इस भ्रमण के दौरान वे एक राशि से दूसरी राशि में प्रवेश करते हैं। जन्म समय में ये ग्रह जिस [...]

बृहस्पति का मकर राशि में प्रवेश -20 नवंबर, 2020

गोचर का स्वरूप और उसका आधार आकाश में स्थित ग्रह अपने मार्ग पर अपनी गतिनुसार भ्रमण करते हैं। इस भ्रमण के दौरान वे एक राशि से दूसरी राशि में प्रवेश करते हैं। जन्म समय में ये ग्रह जिस [...]

शुक्र का तुला राशि में प्रवेश – 17 नवंबर, 2020

गोचर का स्वरूप और उसका आधार आकाश में स्थित ग्रह अपने मार्ग पर अपनी गतिनुसार भ्रमण करते हैं। इस भ्रमण के दौरान वे एक राशि से दूसरी राशि में प्रवेश करते हैं। जन्म समय में ये ग्रह जिस [...]

सूर्य का वृश्चिक राशि में प्रवेश – 16 नवंबर, 2020

गोचर का स्वरूप और उसका आधार आकाश में स्थित ग्रह अपने मार्ग पर अपनी गतिनुसार भ्रमण करते हैं। इस भ्रमण के दौरान वे एक राशि से दूसरी राशि में प्रवेश करते हैं। जन्म समय में ये ग्रह जिस [...]

सोम वेदों में वर्णित एक विषय है जिसका( वैदिक संस्कृत में) प्रमुख अर्थ उल्लास, सौम्यता और चन्द्रमा है।

सोम वेदों में वर्णित एक विषय है जिसका( वैदिक संस्कृत में) प्रमुख अर्थ उल्लास, सौम्यता और चन्द्रमा है। ऋग्वेद और सामवेद में इसका बार-बार उल्लेख मिलता है। ऋग्वेद के ‘सोम मण्डल’ में ११४ सूक्त हैं, जिनमे १०९७ [...]

शुक्र का वृश्चिक राशि में प्रवेश – 11 दिसंबर, 2020

गोचर का स्वरूप और उसका आधार आकाश में स्थित ग्रह अपने मार्ग पर अपनी गतिनुसार भ्रमण करते हैं। इस भ्रमण के दौरान वे एक राशि से दूसरी राशि में प्रवेश करते हैं। जन्म समय में ये ग्रह जिस [...]

शुक्र का कन्या राशि में प्रवेश – 23 अक्टूबर, 2020

गोचर का स्वरूप और उसका आधार आकाश में स्थित ग्रह अपने मार्ग पर अपनी गतिनुसार भ्रमण करते हैं। इस भ्रमण के दौरान वे एक राशि से दूसरी राशि में प्रवेश करते हैं। जन्म समय में ये ग्रह जिस [...]

जानिए कैसे करें माँ कुष्मांडा की उपासना

नवरात्रि के चतुर्थ दिन, मां कूष्मांडा जी की पूजा की जाती है। यह शक्ति का चौथा स्वरूप है, जिन्हें सूर्य के समान तेजस्वी माना गया है। मां के स्वरूप की व्याख्या कुछ इस प्रकार है, देवी कुष्मांडा [...]

माँ चंद्रघंटा : नवदुर्गा की तीसरी शक्ति

मां दुर्गा की तीसरी शक्ति हैं चंद्रघंटा। नवरात्रि में तीसरे दिन इसी देवी की पूजा-आराधना की जाती है। देवी का यह स्वरूप परम शांतिदायक और कल्याणकारी है। इसीलिए कहा जाता है कि हमें निरंतर उनके पवित्र विग्रह [...]

मां ब्रह्मचारिणी की कथा व पूजा विधि

नवरात्र के दूसरे दिन मां ब्रह्मचारिणी की पूजा-अर्चना का विधान है। देवी दुर्गा का यह दूसरा रूप भक्तों एवं सिद्धों को अमोघ फल देने वाला है। देवी ब्रह्मचारिणी की उपासना से तप, त्याग, वैराग्य, सदाचार, संयम की [...]

17 अक्टूबर से आरंभ होगी नवरात्रि

नवरात्रि का पर्व 17 अक्टूबर 2020 से आरंभ होगा। इस वर्ष अधिक मास लग जाने के कारण ऐसा हो रहा है। इस बार नवरात्रि पर विशेष संयोग बन रहे हैं। नवरात्रि का पर्व इस बार अधिकमास के [...]

नवरात्रि घट/ कलश स्थापना की विधि एवं सामग्री

इस बार पितृ पक्ष की समाप्ति 17 सितंबर 2020 को हो रही है और इससे ठीक एक महीने बाद शारदीय नवरात्रि 2020 की शुरुआत हो रही है जो 17 अक्टूबर 2020 है। नवरात्रि के दौरान घटस्थापना किया [...]

अनंत शक्तियों से संपन्न हैं देवी का पहला स्वरूप मां शैलपुत्री

वन्दे वांच्छितलाभाय चंद्रार्धकृतशेखराम्‌ ।  वृषारूढ़ां शूलधरां शैलपुत्रीं यशस्विनीम्‌ ॥ मां दुर्गा को सर्वप्रथम शैलपुत्री के रूप में पूजा जाता है। हिमालय के वहां पुत्री के रूप में जन्म लेने के कारण उनका नामकरण हुआ शैलपुत्री। इनका वाहन वृषभ है, [...]

सूर्य का तुला राशि में प्रवेश – 17 अक्टूबर, 2020

गोचर का स्वरूप और उसका आधार आकाश में स्थित ग्रह अपने मार्ग पर अपनी गतिनुसार भ्रमण करते हैं। इस भ्रमण के दौरान वे एक राशि से दूसरी राशि में प्रवेश करते हैं। जन्म समय में ये ग्रह जिस [...]

मंगल का मीन राशि में प्रवेश 4 अक्टूबर, 2020

गोचर सिद्धांत यदि कोई ग्रह जन्म पत्रिका में बलवान हो और फिर गोचर में भी अपनी उच्च राशि, स्वराशि अथवा मित्र राशि में स्थित होकर दशा का भोग कर रहा हो तो जिस भाव में वह गोचर के [...]

शुक्र का सिंह राशि में प्रवेश – 28 सितंबर, 2020

गोचर का स्वरूप और उसका आधार आकाश में स्थित ग्रह अपने मार्ग पर अपनी गतिनुसार भ्रमण करते हैं। इस भ्रमण के दौरान वे एक राशि से दूसरी राशि में प्रवेश करते हैं। जन्म समय में ये ग्रह जिस [...]

राहु का वृषभ राशि में प्रवेश – 23 सितंबर, 2020

गोचर का स्वरूप और उसका आधार आकाश में स्थित ग्रह अपने मार्ग पर अपनी गतिनुसार भ्रमण करते हैं। इस भ्रमण के दौरान वे एक राशि से दूसरी राशि में प्रवेश करते हैं। जन्म समय में ये ग्रह जिस [...]

बुध का तुला राशि में प्रवेश – 22 सितंबर, 2020,

गोचर का स्वरूप और उसका आधार आकाश में स्थित ग्रह अपने मार्ग पर अपनी गतिनुसार भ्रमण करते हैं। इस भ्रमण के दौरान वे एक राशि से दूसरी राशि में प्रवेश करते हैं। जन्म समय में ये ग्रह जिस [...]

सूर्य का कन्या राशि में प्रवेश – 16 सितंबर, 2020

गोचर का स्वरूप और उसका आधार आकाश में स्थित ग्रह अपने मार्ग पर अपनी गतिनुसार भ्रमण करते हैं। इस भ्रमण के दौरान वे एक राशि से दूसरी राशि में प्रवेश करते हैं। जन्म समय में ये ग्रह जिस [...]

Bhadrapada Purnima Purnima Shraddha Pitrupaksha Begin 2 nd sep

वैदिक परंपरा में अनुष्ठान, पूजा पद्धति, धार्मिक क्रिया कलाप और व्रत-त्योहार जैसे कई आयोजन किए जाते हैं। सनातन धर्म में किसी जातक के जन्म से पहले यानी गर्भधारण और मृत्यु के बाद भी कई तरह के संस्कार [...]

बुध का कन्या राशि में प्रवेश – 2 सितंबर, 2020

गोचर का स्वरूप और उसका आधार आकाश में स्थित ग्रह अपने मार्ग पर अपनी गतिनुसार भ्रमण करते हैं। इस भ्रमण के दौरान वे एक राशि से दूसरी राशि में प्रवेश करते हैं। जन्म समय में ये ग्रह जिस [...]