कोरोना से बचने का वैदिक उपाय महर्षि श्री भृगु जी ने हजारों साल पहले ही लिखा हुआ था। जो की निचे दिए लिंक पर आप स्वयं 9 मिन्ट के वीडियो में देख सकते हैं।

Post Date: June 27, 2020

कोरोना से बचने का वैदिक उपाय महर्षि श्री भृगु जी ने हजारों साल पहले ही लिखा हुआ था। जो की निचे दिए लिंक पर आप स्वयं 9 मिन्ट के वीडियो में देख सकते हैं।

 

0:48 -1 :25 4:49-5:10 7:30-8:00 मुख्य रिकॉर्डिंग अंश

ज्योतिष शास्त्र की रचना करने वाले महर्षि श्री भृगु जी के प्राचीन ग्रन्थ में दो वर्ष पहले 2018 में ही कोरोना के बारे में भविष्यवाणी कर दी थी, कि आने वाले समय में एक ऐसी महामारी फैलेगी कि इंसान दूसरे इंसान से दूरी रखेगा। आर्थिक संकट विश्वव्यापी होगा। धन की प्राप्ति न तो बिजनेस से हो पायेगी और न ही नौकरी से। प्राकृतिक आपदाएं आएँगी। इंसान अपनी जीवन लीला स्वयं ही समाप्त करने पर उतारू हो जायेगा और पाताल देशों (समुन्द्र तल से कम ऊंचाई पर) के लिए यह समय बहुत ही भयानक होगा, और आज यह घटित होते हुए हम सब देख भी रहे हैं।

4 अप्रैल 2020 को जब दोबारा इस ग्रन्थ को पढ़ा गया तो कोरोना से स्वयं को व् देश को बचाने का वैदिक उपाय लिखा हुआ था। यह ग्रन्थ पंजाब के कपूरथला ज़िले के सुल्तानपुर लोधी में रखा है जो की ताम्बे के पत्रों लिखा गया है।

उपाय : यह जीवाणु रक्तबीज से कम नहीं है। दुर्गा सप्तशती में 6-10 अध्याय का पाठ करना चाहिए। महामृत्युंजय मन्त्र जाप रुद्राक्ष की माला से करना चाहिए व् दूरी बनाकर शाम के समय हवन यज्ञ के रूप में भी महामृत्युंजय मन्त्र का जाप करना चाहिए। ऐसा करने से उस परिवार की रक्षा ज़रूर होगी।

ऋषि मुनियों ने तो युग ही बदल दिया था क्यूंकि सतयुग के बाद द्वापर युग आना चाहिए था परन्तु सतयुग के बाद त्रेता युग आया। क्योंकि ऋषियों ने तपोबल से युग ही परिवर्तन कर दिया। अब उन्होंने ही तो ऐसा रास्ता बताया है की कोरोना से बचाव हो सके। हमे ज़रूर इन उपाय को मानना चाहिए।

Sanjay Dara Singh
AstroGem Scientist

LLB., Graduate Gemologist (Gemological Institute of America), Astrologist, Numerology, Vastu (SSM)

For Appointment Follow this link :
https://www.sriastrovastu.com/sanjay-dara-singh/

https://www.sriastrovastu.com/prediction/

https://www.sriastrovastu.com/

Sri Astro Vastu

Share the post

Share this post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *